DIGITAL COMPUTER के प्रकार [TYPES OF DIGITAL COMPUTER HINDI]

DIGITAL COMPUTER के प्रकार [TYPES OF DIGITAL COMPUTER HINDI]

दोस्तों बहुत से कंप्यूटर यूजर को DIGITAL COMPUTER की बेसिक जानकारी होती है लेकिन वो कंप्यूटर यूजर यह नहीं जानते है कि DIGITAL COMPUTER के प्रकार भी होते है ऐसे कौनसे-कौनसे COMPUTER आते है जो DIGITAL COMPUTER की श्रेणी में आते है और इनका निर्माण कैसे और कब हुआ इनका उपयोग क्या है तो दोस्तों बहुत सी बातों को ध्यान में रखते हुये हम पूरी डिटेल में DIGITAL COMPUTER के प्रकार के बारे में जानेगें

आज देखा जाये दुनियां में Digital Computer ही सभी जगह उपयोग किये जाते है चाहे वो घर हो , दफ्तर हो या फिर कोई अन्य क्षेत्र हो हर जगह Digital Computer का ही उपयोग किया जाता है

दोस्तों Digital Computer कंप्यूटर की Binary नंबर सिस्टम के आधार पर होते है जैसे 0 , 1 जिन्हें हम Bit के नाम से जानते है Digital Computer केवल डिजिट के आधार पर ही काम करते है डिजिटल कंप्यूटर के अंतर्गत आने वाले कंप्यूटर है सुपर कंप्यूटर , मेनफ़्रेम कंप्यूटर , माइक्रो कंप्यूटर , मिनी कंप्यूटर।

दोस्तों आज के समय दुनियां में जो छोटे- छोटे टैबलेट और लैपटॉप आ रहा है उन्हें भी Digital Computer का नाम दिया जाता है। 

DIGITAL COMPUTER चार प्रकार के होते है इसके अंतर्गत  माइक्रो कंप्यूटर, मिनी कंप्यूटर ,मेनफ़्रेम कंप्यूटर और सुपर कंप्यूटर आते है तो चलिये इन सभी DIGITAL COMPUTER को एक-एक करके डिटेल्स में जानते है.

माइक्रो कंप्यूटर

दोस्तों माइक्रो कंप्यूटर वो होते है जो हम अपने सामान्य कार्य के लिए उपयोग में लाया करते है आज कल छोटे से लेकर बड़े व्यापार में माइक्रो कंप्यूटर का सबसे ज्यादा उपयोग किया जा रहा है माइक्रो कंप्यूटर के अंतर्गत कुछ कंप्यूटर के पार्ट्स लगे होते है जैसे – DVD रीडर, Motherboard, माइक्रोप्रोसेसर आदि माइक्रो कंप्यूटर का निर्माण व्यक्तिगत कार्य के लिए बनाया गया है पहला माइक्रो कंप्यूटर 1974 में बनाया गया था जिसका नाम Atair 8800 था आज के समय देखा जाये तो व्यक्ति अपने Personal कार्य के लिए माइक्रो कंप्यूटर का ही उपयोग कर रहा है .

DIGITAL COMPUTER के प्रकार ?

माइक्रो कंप्यूटर के अंतर्गत कुछ कंप्यूटर के मॉडल होते है जैसे –

  • Desktop
  • Laptop

मिनी कंप्यूटर

मिनी कंप्यूटर उसको कहा जाता है जिसमें फीचर अधिक और बड़े हो लेकिन उसका आकार छोटा होता है मिनी कंप्यूटर माइक्रो और मेनफ़्रेम कंप्यूटर के बीच का कंप्यूटर है अर्थात मिनी कंप्यूटर माइक्रो और मेनफ़्रेम कंप्यूटर के मध्य आता है मिनी कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर से बड़े और मैं मेनफ़्रेम कंप्यूटर से छोटे है इसलिए इसे माइक्रो और मेनफ़्रेम कंप्यूटर के मध्य माना जाता है. 

DIGITAL COMPUTER के प्रकार ?

यदि आप मिनी कंप्यूटर की तुलना माइक्रो कंप्यूटर से करें तो मिनी कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर से ज्यादा पॉवर फुल होता है और वहीं सुपर कंप्यूटर और मेनफ़्रेम कंप्यूटर से कम पॉवर फुल होते है माइक्रो कंप्यूटर का उपयोग डेटाबेस मैनेजमेंट , बड़े लेवल के बिज़नस आदि. पहले मिनी कंप्यूटर का निर्माण IBM कंपनी ने 1960 में किया गया था जिसके उद्देश्य केवल बिज़नस, डेटाबेस मैनेजमेंट, कम्युनिकेशन, सर्वर जैसे कार्य करने के लिए निर्माण किया गया था.

मिनी कंप्यूटर जैसे- 

  • Desktop Models
  • Notebook computer
  • Network Computer
  • Tablet

मेनफ़्रेम कंप्यूटर

मेनफ़्रेम कंप्यूटर बहुत बड़े आकार के कंप्यूटर के होते है जिनको रखने के लिए एक अलग से कमरे या अलग से जगह चाहिये होती है मेनफ़्रेम कंप्यूटर मिनी कंप्यूटर और माइक्रो कंप्यूटर से बड़े होते है और पॉवर फुल होते है किन्तु यह कंप्यूटर सुपर कंप्यूटर से ज्यादा पॉवर फुल नहीं होते है मेनफ़्रेम कंप्यूटर के एक समय में हजारों लोग एक्सेस कर सकते है मेनफ़्रेम कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने की क्षमता बहुत अधिक होती है और इसकी प्रोसेसिंग काफी फ़ास्ट होती है आज के समय इस कंप्यूटर का उपयोग दुनियां की बड़ी-से बड़ी कंपनी और प्रत्येक देश सरकार कर रही है जैसे उद्योग कंपनी, बैंक, सरकारी विभाग आदि.

DIGITAL COMPUTER के प्रकार ?

 मेनफ़्रेम कंप्यूटर के निर्माणकर्ता IBM कंपनी है जिसने पहले मेनफ़्रेम कंप्यूटर 1944 में बनाया था जिसे स्यंचलित अनुक्रम नियंत्रित कैलकुलेटर (एएससीसी) के रूप में जाना जाता है.

मेनफ़्रेम कंप्यूटर का उपयोग निम्नलिखित कार्यों के लिए उपयोग में लिया जाता है-

  • बैंक कार्य
  • सरकारी विभाग
  • उधोग 

सुपर कंप्यूटर

सुपर कंप्यूटर जैसे की आप नाम से ही जान गये होगें सुपर कंप्यूटर दुनियां का सबसे बड़ा कंप्यूटर माना जाता है क्योंकि इस कंप्यूटर का उपयोग बड़े-बड़े कार्यो के लिए लिया जाता है यह कंप्यूटर सभी कंप्यूटर से ज्यादा फर्स्ट होता है और इसके फीचर भी सभी कंप्यूटर से काफी अलग और बड़े होते है इस कंप्यूटर की स्टोर क्षमता और चलने की गति सभी कंप्यूटर से बहुत तेज होती है यह कंप्यूटर केवल कंप्यूटर से सम्बंधित कठिन कार्य करने के लिए जाने जाते है कठिन कार्य जैसे -अन्तरिक्ष क्षेत्र, मोसम विभाग क्षेत्र, वैज्ञानिक क्षेत्र, इंजीनियरिंग क्षेत्र, शिक्षा क्षेत्र आदि. 

DIGITAL COMPUTER के प्रकार ?

दुनिया का सबसे पहला सुपर कंप्यूटर 1962 में बनाया गया था जिसका नाम Cray था. आज दुनियां में बहुत से सुपर कंप्यूटर प्रचलित है जैसे –

  • ब्लू जिन / एल सिस्टम
  • सिलिकॉन ग्राफ़िक्स
  • एका , सी आरएल.
  • Fugaku supercomputer

PRAMOD

मेरा नाम प्रमोद है में कंप्यूटर और टेक से सम्बंधित जानकारी का एक Youtuber और Blogger हूँ में प्रतिदिन कंप्यूटर और टेक से सम्बंधित जानकारी अपने YouTube Channel और Blog पर Publish करता हूँ मैं. basiccomputerhindi

Leave a Reply