Seo Backline क्या है Backlinks कैसे बनाये क्या है तरीका Backline बनाने का

Seo Backline क्या है Backlinks कैसे बनाये क्या है तरीका Backline बनाने का?

 Seo Backline क्या है इसके अंतर्गत Do follow और No-Follow Link क्या है और वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कैसे यह तैयार की जाती है Seo (Search Engine Optimization) के अंतर्गत Do-Follow और No Follow Link की पहचान कैसे की जाती है और इसके फायदे क्या-क्या है ?

Seo Backline क्या है कैसे यह तैयार की जाती है  ?

जब आपनी वेबसाइट या ब्लॉग पेज या लिंक किसी अन्य वेबसाइट या ब्लॉग से जुड़ा होता है तो उसे ही Backline कहते है मतलब आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का URL किसी अन्य वेबसाइट या ब्लॉग पर Add होना यह यूआरएल वेबसाइट के किसी पेज , केटेगरी या पोस्ट का हो सकता है जिस पर क्लिक करने से यूजर आपकी वेबसाइट पर आ सकता है .

उदहारण- जैसे की आपकी वेबसाइट है-

यदि आपकी वेबसाइट जैसे –basiccomputerhindi.com है और यह लिंक यदि www.microsoft.com या www.amazon.in वेबसाइट पर सेव या जुड़ जाये तो आपकी वेबसाइट का एक Backline बन जाता है

और यदि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर www.microsoft.com या www.amazon.in वेबसाइट का लिंक है तो www.microsoft.com या www.amazon.in वेबसाइट का Backline आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर बन जाता है.

ध्यान दें -आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की जितनी ज्यागा Backline होंगी उतनी ही आपकी वेबसाइट या ब्लॉग अपनी Quality को दर्शाता है .

Seo (search Engine Optimization) के अंदर Backline कितने प्रकार की होती है ?

Backline दो प्रकार की होती है –

1. No-Follow Link
2. Do-Follow Link

No-Follow Link =

वेबसाइट में No-Follow लिंक अच्छी नहीं मानी जाती है क्योंकि गूगल का सर्च इंजन इस लिंक को किसी भी वेबसाइट पर ज्यादा महत्व नहीं देता है और इस लिंक को बिल्कुल को Follow नहीं करता है इस लिंक केवल इसलिए बनाई जाती है की इस लिंक के माध्यम से यूजर किसी भी वेबसाइट ब्लॉग या वेबसाइट या ब्लॉग के पेज पर आसानी से Redirect हो जाये इस लिंक से वेबसाइट को किसी भी प्रकार का कोई फायदा नहीं होता है क्योंकि इस लिंक को गूगल का सर्च इंजन किसी भी वेबसाइट पर नजर अंदाज कर देता है आप यह समझ लो की गूगल के सर्च इंजन में No-Follow Backline की कोई Value नहीं है क्योंकि इसे गूगल के सर्च इंजन द्वारा वेबसाइट के लिंक को किसी भी प्रकार की Juice नहीं मिलता है 

No follow Link उदहारण

<ahref=”basiccomputerhindi.combasiccomputerhindi.com” rel=”nofollow”>basiccomputerhindi.com</a>

अब आप Backline के अंदर No-Follow Link के बारे में अच्छे से जान गये होगें। 

अब बात करते है वेबसाइट में Do-Follow Link के बारे में-

Do – Follow Link =

किसी भी वेबसाइट के लिए Do-Follow Link सबसे अच्छा लिंक माना जाता है क्योंकि इस लिंक को गूगल का सर्च इंजन बहुत ज्यादा महत्व  देता है यानि किसी भी वेबसाइट पर आपके आपकी वेबसाइट को लिंक Do-Follow Link के रूप में Add है तो गूगल उस वेबसाइट को Crawling करते समय आपकी वेबसाइट को भी Crawl करेगा और आपकी वेबसाइट गूगल के सर्च इंजन के नजर में आयेगी  जिससे  वेबसाइट को काफी फायदा मिलेगा क्योकि वेबसाइट को गूगल का सर्च इंजन पूर्ण रूप से Follow करेगा और  वेबसाइट गूगल पर रैंक कर जायेगी और साइट की वैल्यू गूगल के के नजर में बहुत अच्छी हो जायेगी और वेबसाइट के Link को सर्च इंजन द्वारा Juice मिल जायेगा

Do-Follow Link उदहारण-

<a href=”basiccomputerhindi.combasiccomputerhindi.com“>basiccomputerhindi.com</a> 

अब आप Backline केअंदर Do – Follow Link भी अच्छे से समझ गये होंगे.

अब बात करते है की वेबसाइट की Backline तैयार करने के लिए किस-किस Technique का उपयोग किया जता है Seo Backline क्या है

वेबसाइट की Backline तैयार करने के लिए निम्न Technique का उपयोग किया जाता है –

  • Directory Submission Technique
  • PDF Submission Technique
  • Article Submission Technique
  • Guest Posting Technique
  • Social Bookmarking Technique
  • Blog Commenting Technique
  • Blog Submission Technique
Seo Backline क्या है Backlinks कैसे बनाये क्या है तरीका Backline बनाने का?

उपर दी गई लिंक  Backline तैयार करने वाली Technique के बारे में हम एक-एक करके पूरी डिटेल्स में आगे जानेगें.

 ध्यान दें – आप हमेशा उन्ही वेबसाइट पर अपनी वेबसाइट की Backline बनाये जिन वेबसाइट का Page रैंक या Quality आपकी वेबसाइट से ज्यादा हो और साथ ही साथ आपकी वेबसाइट जैसी उनकी वेबसाइट हो जैसे – आपकी वेबसाइट कंप्यूटर से रिलेटेड है तो आप उन्ही वेबसाइट पर अपनी वेबसाइट का Backline तैयार करें जो कंप्यूटर से रिलेटेड है जिससे वेबसाइट के एक Quality Backline तैयार होगी. 

 

वेबसाइट की Backline तैयार करने के क्या -क्या फायदे है ?

  • किसी भी वेबसाइट पर यदि आपकी वेबसाइट का Backline है तो गूगल का सर्च इंजन उस वेबसाइट के साथ-साथ आपकी वेबसाइट को भी Crawl करेगा जिससे आपकी वेबसाइट गूगल के सर्च इंजन में नजर आयेगी.
  • वेबसाइट की ज्यादा से ज्यादा Backline होने पर वेबसाइट की वैल्यू गूगल के नजर में काफी आच्छी हो जाती है और वेबसाइट गूगल पर रैंक होने की अधिक सम्भावना हो जाती है.
  • वेबसाइट की Backline तैयार होने से वेबसाइट का पेज रैंक भी अधिक हो जाता है
  • वेबसाइट की Backline वेबसाइट की Quality को दर्शाती है.
  • वेबसाइट की Backline होने पर वेबसाइट गूगल के पहले पेज पर रैंक करने की सम्भावना अधिक हो जाती है। 

 ध्यान दें – दोस्तों बहुत से ब्लॉगर अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का Seoकरते समय अपनी वेबसाइट या ब्लॉग की Do-Follow LInk No-Follow LInk की तुलना में बहुत ज्यादा बना लेते है तो यह अच्छी बात नहीं है गूगल के नजर में यह एक Seo की Black Hat तकनीक है तो अपनी वेबसाइट या ब्लॉग की Backline में Do-Follow Link No-Follow Link का Ratio बराबर रखे जैसे कि वेबसाइट या ब्लॉग के लिए Do-Follow Link 8 या 10 बनाई है तो आप वेबसाइट या ब्लॉग की No-Follow LInk कम से कम 6 या 7 तक जरूर बनाये।

Seo क्या है? SEO कैसे किया जाता है ? और इसके फायदे क्या है [Seo in Hindi]
Seo लिंक बिल्डिंग क्या है
Spread the love

This Post Has 4 Comments

  1. Sv tech gayan

    Sir mera name saurabh he sir me ak new blogger hu sir muj ye nahi malu ki backline kese banta he meri help kre ap ko me farst massage kar raha hu

    1. PRAMOD

      kisi bhi site par jab apni site ka link hota hai use backline kehte hai bus aapko apni site ka link other site par dalna hai other site par link dalne se backline nhi milta hai dhyan rakhe bakcline tabhi mana jata hai jab wo site aapko value de
      exampple me aapne – quara par profile banakar link dala hai aur aap quara par kisi ki bhi help nhi kar rahe hai kisi ke bhi question ka jbav nhi de rahe hai tou quara aapko valueable backline nhi dega
      value able backline tabhi mani jati hai jab aap us platform par active ho ya aapne kuch us platform ko value di ho ok..
      thank you..

Leave a Reply