Computer Me Kya Kya Sikhe Computer Me Kya Kam Ayega

Computer Me Kya Kya Sikhe Computer Me Kya Kam Ayega

Spread the love

Computer Me Kya Kya Sikhe Computer Me Kya Kam Ayega – कुछ ऐसे स्टूडेंट ऐसे होते है जिन्होंने अभी तक कंप्यूटर की दुनियां में कदम नहीं रखा है उनको मन में आखिर एक ही सवाल रहता है क्या मुझे भी कंप्यूटर सीखना चाहिए क्या मुझे कंप्यूटर सिखने से फायदे मिलेगें अगर में कंप्यूटर सीखता हूँ तो मुझे कंप्यूटर में क्या-क्या सीखना चाहिए ऐसी कोनसी-कोनसी चीज है जिन्हें मुझे कंप्यूटर के अंदर सीखना चाहिए और वो सभी चीज मेरे हमेशा काम आ सके तो आइये जानते है नये कंप्यूटर यूजर को क्या-क्या सीखना अनिवार्य है कंप्यूटर के अंदर –

 

कंप्यूटर चालू करनाकंप्यूटर चालू करना – आपको सबसे पहले कंप्यूटर चालू करना आना चाहिए कंप्यूटर कैसे चालू करते है और कंप्यूटर का पावर बटन कहां होता है अगर कंप्यूटर किसी वजह से चालू नहीं होता है पासवर्ड मांगता है तो उसके अंदर पासवर्ड कैसे डालना चाहिए और यदि कोई एरर बताता है तो थोड़ी-बहुत उसकी नॉलेज होनी किये जैसे F1 , F2 क्योंकि दोस्तों अगर आपको कंप्यूटर चालू करना नहीं आएगा तो आप कंप्यूटर पर काम कैसे करेगें।

 

ऑपरेटिंग सिस्टमऑपरेटिंग सिस्टम  – कंप्यूटर पर काम करने और कंप्यूटर को नियंत्रण करने के लिए आपको कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम को सीखना होगा कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम के सभी फंक्शन और टूल को बारीकी से जानना होगा क्योंकि ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही कंप्यूटर फोल्डर फाइल्स मैनेज की जाती है , कंप्यूटर के अंदर पासवर्ड लगाया जाता है , कंप्यूटर के अंदर डाटा को सिक्योर रखा जाता है , सॉफ्टवेयर और ब्राउज़र चलाये जाते है अगर कंप्यूटर पर यूजर को ठीक से काम करना है और कंप्यूटर एक्सपर्ट बनाना है तो उस यूजर को कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम को पूरा सीखना होगा।

 

इंटरनेट चलानाइंटरनेट चलाना – ज्यादातर यूजर को इंटरनेट पर काम करना होता है क्योंकि छोटे से लेकर बड़े-बड़े काम इंटरनेट पर किये जा रहे है तमाम ऐसी वेबसाइट है जो यूजर को कंप्यूटर पर काम करने के लिए ऑनलाइन फैसिलिटीज प्रोवाइड करा रही है अगर हमे रेलवे या फ्लाइट का टिकट बुक करना हो तो हमें इंटरनेट का उपयोग करना होता है अगर हमें कंप्यूटर के द्वारा कोई सामान खरीदना हो तो उसके लिए भी इंटरनेट का उपयोग किया जाता है तो इंटरनेट का उपयोग कंप्यूटर में काफी महत्व है इसलिए हर यूजर को कंप्यूटर के अंदर इंटरनेट ब्राउज़र और इंटरनेट की उपयोगी वेबसाइट ब्लॉग का ज्ञान होना चाहिए कैसे वेबसाइट ब्लॉग ओपन किये जाते है और कैसे उसके अंदर लॉगिन होते है और कैसे ईमेल भेजे जाते है प्राप्त किये जाते है।

 

Ms. Word सॉफ्टवेयर पर काम करना Ms. Word सॉफ्टवेयर पर काम करना  – जब आपको कंप्यूटर के अंदर कोई लेटर एप्लीकेशन टाइप करना है , कवर पेज डिज़ाइन करना है , बुक टाइप करना है , कंटेंट ड्राफ्टिंग करनी है तो यह सब चीज कंप्यूटर के अंदर करने  के लिए वर्ड सॉफ्टवेयर चलाना आना चाहिए क्योंकि कंप्यूटर के अंदर टाइपिंग करना , लेटर एप्लीकेशन बनाना, कंटेंट की ड्राफ्टिंग करना यह सब चीजे वर्ड एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के अंदर की जाती है क्योंकि वर्ड सॉफ्टवेयर के अंदर बहुत से ऐसे-ऐसे फंक्शन और टूल मौजूद होते है जो इन सब कामों को करने के लिए कंप्यूटर में यूजर की हेल्प करते है जैसे शब्दों टेड़ा करने के लिए इटैलिक फंक्शन , शब्दों के नीचे लाइन डालने के लिए लिए अंडरलाइन फंक्शन, शब्दों को डार्क करने के लिए बोल्ड फंक्शन, शब्दों छोटा -बड़ा दिखने के लिए सुपर एंड सब स्क्रिप्ट फंक्शन,और भी ऐसे फंक्शन है जो यूजर के कंटेंट को और भी अट्रैक्टिव बनाते है जैसे – फॉण्ट कलर, फोंड साइज, टेबल फंक्शन, प्रोटेक्शन, हैडर एंड फुटर आदि.

 

Ms. Excel पर काम करनाMs. Excel पर काम करना – जब आपको कंप्यूटर में हिसाब किताब , डाटा एंट्री, फाइनेंस से रिलेटेड काम करना है तो आपको कंप्यूटर के अंदर एक्सेल अनिवार्य रूप से आना चाहिए एक्सेल एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो छोटी से लेकर बड़ी-बड़ी कैलकुलेशन को कुछ ही समय में कर देता है एक्सेल के अंदर किसी भी कैलकुलेशन का निकाला गया रिजल्ट एक दम सटीक होता है इसके के अंदर उच्च स्तर के डाटा को मैनेज किया जाता है और लाखों एंट्री की जा सकती है एक्सेल सॉफ्टवेयर का उपयोग हर क्षेत्रों में किया जाता है जैसे सरकारी विभाग के कामों में एक्सेल का उपयोग, एजुकेशन विभाग में एक्सेल का उपयोग, कंपनियों में एक्सेल का उपयोग और Perisomal यूज़ में भी एक्सेल का बढ़-चढ़कर उपयोग किया

जाता है क्योंकि इन सभी क्षेत्रों के कामों को करने के लिए एक्सेल के अंदर कुछ ऐसे-ऐसे फंक्शन और टूल मौजूद है जो इन सभी कामों को और भी आसान बनाते है जैसे – कैलकुलेशन करने  के लिए फार्मूला लगाने की सुविधा होना, डाटा एंट्री करने के लिए रौ , कॉलम, सेल, में टाइप करने की सुविधा होना, कैलकुलेशन गलत होने पर ऑडिटिंग के फंक्शन मौजूद होना, डाटा को प्रोटेक्ट करने के लिए अलग-अलग प्रकार के पासवर्ड और सिक्योरिटी फंक्शन होना, आटोमेटिक वैल्यू टाइप करने के फंक्शन मौजूद होना ऐसे कही फंक्शन और टूल मौजूद है एक्सेल एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के अंदर जो कंप्यूटर यूजर को एक्सेल पर काम करने में यूजर की काफी हेल्प करते है इसलिए हर कंप्यूटर यूजर को एक्सेल को सीखना होगा जब तक यूजर एक्सेल नहीं सीखेगा तो समझो उस यूजर को बेसिक कंप्यूटर जानकारी से नहीं है।

 

Ms. PowerPoint पर काम करनाMs. PowerPoint पर काम करना – जब आप किसी मल्टीनेशनल कंपनी में काम करेगें और वहां आपको कंप्यूटर ऑपरेटर की पोस्ट पर जॉब दी गई है तो आपको कंप्यूटर के अंदर पॉवरपॉइंट सॉफ्टवेयर पर काम करना आना चाहिए क्योंकि पॉवरपॉइंट के अंदर बिज़नेस , प्रोडक्ट से सम्बंधित मैनुफेक्चर , सेल से सम्बंधित सभी जानकारी योजना पॉवरपॉइंट पीपीटी में बनाई जाती है इस पॉवरपॉइंट पीपीटी के द्वारा ही मैनेजर या कंपनी का हेड अपने प्रोडक्ट या बिज़नेस के बारे कंपनी के एम्प्लोयी को बताता है की कंपनी का प्रोडक्ट या सर्विस क्या होगी , इसकी प्लानिंग क्या है, कैसे इसकी सेल होगी ऐसी तमाम जानकारी योजना यह सब पॉवरपॉइंट पीपीटी में बनती है ऐसा नहीं है केवल कंपनी के कामों में

कंप्यूटर के अंदर पॉवरपॉइंट पीपीटी बनाई जाती है कुछ और भी जगह है जहां पॉवरपॉइंट का उपयोग किया जाता है जैसे एजुकेशन , कंस्ट्रक्शन, मेडिकल आदि पॉवरपॉइंट सॉफ्टवेयर में इन सभी प्रकार की जानकारी या योजना बनाने कर प्रेजेंट करने से सम्बंधित कामों के फंक्शन मौजूद होते है जैसे – डॉक्यूमेंट को अच्छा बनाने के लिए डिज़ाइन फंक्शन, डॉक्यूमेंट को अच्छी तरीके से प्रेजेंट करने के लिए Animation और Transitions फंक्शन, और म्यूजिक के लिए बैकग्राउंड म्यूजिक और साउंड फंक्शन आदि होते है जो पीपीटी प्रेजेंटेशन को काफी अट्रैक्टिव बनाते है जिसे प्रेजेंट करने में काफी आसानी होती है अगर किसी कंपनी या एजुकेशन विभाग में जॉब लगी तो वहां पर कम्पलसरी पॉवरपॉइंट पर काम करना होगा इसलिए कंप्यूटर में पॉवरपॉइंट पर काम करना जरूर सीखे।

 

 

कंप्यूटर केयर- कंप्यूटर पर काम करना ही एक काम नहीं है कंप्यूटर की केयर करना ही बहुत बड़ा काम होता है एक कंप्यूटर यूजर को कंप्यूटर की केयर करना भी सीखना चाहिए जैसे कंप्यूटर के अंदर कौनसी-कौनसी सिक्योरिटी लगाना चाहिए, कंप्यूटर को वायरस से बचाने के लिए कौनसा  एंटीवायरस डालना चाहिए और कब एंटीवायरस का उपयोग करना चाहिए, कंप्यूटर के अंदर रखे डाटा को कैसे सुरक्षित रखना चाहिए और कंप्यूटर को किस तरह उपयोग करना चाहिए जिससे कंप्यूटर का कोई भी पार्ट जल्दी से जल्दी ख़राब नहीं हो और हम लम्बे समय तक कंप्यूटर पर बिना रुके काम कर सके तो यह सब तब होगा जब यूजर कंप्यूटर की केयर करेगा अगर यूजर कंप्यूटर की केयर करता है तो उसे कंप्यूटर उपयोग करते समय वायरस, हैकिंग, हैंगिंग, जैसी प्रॉब्लम का सामना  नहीं करना पड़ता है

तो आपको कंप्यूटर के अंदर यह सब कुछ सीखना होगा तभी आप कंप्यूटर पर अच्छा काम कर सकेगें और एक कंप्यूटर एक्सपर्ट बन सकेगें।

 

Leave a Reply