बिटकॉइन क्या है बिटकॉइन का इतिहास क्या है बिटकॉइन कैसे काम करता है

बिटकॉइन क्या है बिटकॉइन का इतिहास क्या है बिटकॉइन कैसे काम करता है ?

बिटकॉइन क्या है बिटकॉइन का इतिहास क्या है बिटकॉइन कैसे काम करता है बिटकॉइन के फायदे और नुकसान क्या है – what is bitcoin what is the history of bitcoin how does bitcoin work what are the advantages and disadvantages of bitcoin

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है जिसपर ना तो किसी देश की सरकार का नियंत्रण है और ना ही किसी वित्तीय संस्था का नियंत्रण है बिटकॉइन सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी है यह दुनियां की सबसे पहली क्रिप्टोकरेन्सी है बिटकॉइन को वर्चुअल करेंसी भी कहा जाता है क्योंकि बिटकॉइन करेंसी को हम स्पर्श नहीं कर सकते है केवल किसी भी डिजिटल फॉर्मेट में देख सकते है यह फॉर्मेट लैपटॉप हो सकता है, मोबाइल हो सकता है, कंप्यूटर हो सकता है, टेबलेट हो सकता है.

बिटकॉइन का इतिहास क्या है?

किसी ना किसी चीज को बनाने के पीछे कई कारण होते है जैसे की 2008 में ग्लोबली इकॉनमिक प्रॉब्लम, 8 November 2016 इंडियन में 500 और 1000 के नॉट अचानक से अमान्य, बैंक प्रॉब्लम तो इसी चीज को देखकर बिटकॉइन का निर्माण हुआ बिटकॉइन क्रिप्टोकोर्रेंसी को Satoshi Nakamoto ने बनाया और इसे Jan. 3, 2009 को लॉन्च कर दिया जब बिटकॉइन मार्किट में आया था तो इसका मूल्य काफी कम था इस पर किसी गवर्नमेन्ट अथॉरिटी का हस्क्षेप नहीं था और ना ही कोई कानून था इसलिए इंटरनेट यूजर इस करेंसी पर ज्यादा ट्रस्ट नहीं करते थे जिस तरह रूपये करेंसी को भारत सरकार नियंत्रण करती है , डॉलर करेंसी काअमेरिका सरकार नियंत्रण करती है, रूबल करेंसी को रूस देश नियंत्रण करता है लेकिन बिटकॉइन को दुनियां का कोई भी देश नियंत्रण नहीं करता है.

बिटकॉइन कैसे काम करता है?

बिटकॉइन ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर काम करती है ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी में कंप्यूटर एक-दूसरे से जुड़े होते है सभी बिटकॉइन हिस्सेदार का एक पब्लिक अकाउंट होता है जिसे Ledger खाता कहते है इस Ledger खाते की कॉपी हर एक ब्लैकचैन के कंप्यूटर में डिजिटल फॉर्मेट में स्टोर होती है जो लोग ब्लॉकचैन से जुड़े कंप्यूटर को हैंडल करते है उन्हें Miners कहते है Miners का काम होता है बिटकॉइन की हर लेनदेन को वेरीफाई करते रहना

बिटकॉइन क्या है?

जैसे की अ से ब को 5 बिटकॉइन लेना है तो को कैसे पता चलेगा की पास 5 बिटकॉइन है तो यह पता लगाने के लिए Miners की हेल्प लेनी होती है Miners आपको बता देगें वास्तव में के पास बिटकॉइन उपलब्ध है देने के लिए की नहीं Miners जब यह काम करते है तो उनको कुछ काम के बदले रिवॉर्ड मिलते है जो बिटकॉइन के फॉर्मेट में होते है

बिटकॉइन का इन्वेस्टमेंट को समझे

जब हमें किसी चीज में इन्वेस्ट करना होता है तो हमारा केवल एक ही उद्देश्य होता है की कैसे भी करके अपने इन्वेस्ट से ज्यादा से ज्यादा प्रॉफिट कामना वैसा ही इन्वेस्ट बिटकॉइन में किया जाता है जब आप बिटकॉइन में इन्वेस्ट करेगें तो आपको बिटकॉइन खरीदने के लिए काफी रकम देनी पड़ेगी क्योंकि अभी 1 बिटकॉइन की कीमत 43191.20 डॉलर है यानी 3296253.04 इंडिया रूपये और इसका अमाउंट समय-समय पर कम-ज्यादा होता रहता है जब आप बिटकॉइन में इन्वेस्ट करेगें तो आपको इसमें फायदा भी हो सकता है और नुकसान भी हो सकता है बिटकॉइन का प्रॉफिट बड़ी-बड़ी कंपनी पर निर्भर भी करता है अगर बड़ी-बड़ी कंपनी बिटकॉइन को अपने प्रोडक्ट या सर्विस में मान्य कर देती है तो एक दम से बिटकॉइन का मूल्य बढ़ जायेगा और वहीं किसी बड़ी कंपनी ने बिटकॉइन को लेने से मना कर दिया तो एक दम से बिटकॉइन का मूल्य गिर जायेगा।

क्या बिटकॉइन में पैसा लगाना एक रिस्क है?

हाँ यह सही है की बिटकॉइन में पैसा लगाना काफी बड़ा रिस्क क्योंकि यह एक डिजिटल करेंसी है जिसपर ना तो कोई कानून है और ना ही इसका किसी भी देश का नियंत्रण जब हम गोल्ड में पैसा लगाकर गोल्ड को खरीदते है उसे अपने घर में रख सकते है , गिरवी रख सकते है, बैंक में रख सकते है, लोन ले सकते है लेकिन बिटकॉइन में ऐसा नहीं है बिटकॉइन को आप स्पर्श नहीं कर सकते है किसी के पास गिरवी नहीं रख सकते है घर नहीं ला सकते है

क्या बिटकॉइन में पैसा लगाना एक रिस्क है

लोन नहीं ले सकते है इसे केवल देखा जा सकता है किसी भी डिवाइस की डिस्प्ले पर कुछ कंपनी है जो बिटकॉइन को अल्टरनेटिव करेंसी मानती है जिसमें आप बिटकॉइन से प्रोडक्ट या सर्विस खरीद सकते है बिटकॉइन पूरी दुनियां में मान्य है लेकिन कुछ ऐसी भी कंट्री है जो अभी भी बिटकॉइन को करेंसी की मान्यता नहीं देती है.

बिटकॉइन क्या है बिटकॉइन का इतिहास क्या है बिटकॉइन कैसे काम करता है

बिटकॉइन के फायदे?

  1. बिटकॉइन का पहला फायदा बिटकॉइन के मामले में किसी भी देश की सरकार हस्तक्षेप नहीं होता है आपके पास कितने बिटकॉइन है यह केवल आपको पता होता है.
  2. बिटकॉइन का मूल्य कभी-कभी एक दिन में सो गुना बढ़ जाता है जिसे आप बेचकर काफी रूपये कमा सकते है.
  3. बहुत सी कंपनियों ने बिटकॉइन को मान्यता दे दी है आप इन कंपनियों से बिटकॉइन के द्वारा सर्विस, प्रोडक्ट खरीद सकते है.
  4. बिटकॉइन में लेनदेन में हेराफेरी नहीं की जा सकती है क्योंकि इसकी लेनदेन कंप्यूटर ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के द्वारा होती इसलिए बिटकॉइन चुराना और उसमें हेराफेरी करना संभव नहीं है.
  5. अगर आपको अपने देश से किसी देश में पैसा भेजना है तो बिटकॉइन में भेज सकते है क्योंकि बिटकॉइन में 10 से 15 मिनट की बिच में ट्रांसक्शन पूरी हो जाती है.
  6. बिटकॉइन को लम्बे समय तक होल्ड करके बिटकॉइन के Price बढ़ने पर उनको बेचकर अच्छा पैसा कमाया जा सकता है.
  7. बिटकॉइन खरीदने के लिए ज्यादा पैसा होने की जरुरत नहीं मात्र 100 रुपये में बिटकॉइन खरीद सकते है.
  8. बिटकॉइन दुनियां की सबसे पहली और सबसे ज्यादा पॉपुलर क्रिप्टोकोर्रेंसी है बड़े-बड़े इन्वेस्टरों ने इस पर इन्वेस्ट किया है जैसे-एलोन मुस्क, Barry Silbert.
  9. बिटकॉइन हमेशा वॉलेट में स्टोर रहता है जिसका गिरना, चोरी होना, टूटना इन सभी से दूर है.

बिटकॉइन के नुकसान ?

  1. बिटकॉइन का मूल्य दिन-प्रतिदिन बदलता रहता है कभी-कभी ऐसा होता की बिटकॉइन का मूल्य कई गुना गिर जाता है।
  2. कुछ कंट्री ऐसे भी है जिन्होंने बिटकॉइन को मान्यता नहीं दी है उन देशों से आप बिटकॉइन में कोई भी सौदा नहीं कर सकते है.
  3. बिटकॉइन की प्रक्रिया काफी जटिल है किसके पास कितने बिटकॉइन है यह पता लगाने के लिए Miners की हेल्प लेनी पड़ती है हम यह खुद से नहीं कर सकते है.
  4. अगर आपके साथ बिटकॉइन से सम्बंधित फ्रॉड हुआ है तो कानून भी आपकी मदत करने में समर्थ नहीं हो पाता है क्योंकि आपने गलती से किसी को बिटकॉइन भेज दिया है तो आप यह पता नहीं लगा सकते है की मेरा बिटकॉइन किसके पास है.
  5. कुछ-कुछ देशों में बिटकॉइन पर काफी भारी मात्रा में टैक्स नियम लागू किये है जिससे इन्वेस्टर का काफी नुकसान हुआ है.
  6. एक रात में अमीर बनने के चक्कर में लोग इसमें अपनी जीवनभर की कमाई लगा देते है जो एक बहुत बड़ा जोखिम है.
  7. बिटकॉइन में बड़े-बड़े इन्वेस्टर अगर बिटकॉइन के बारे में कोई भी निगेटिव बात करते है तो इसका एक दम Price गिर जाता है.
  8. अगर गलती से बिटकॉइन किसी अन्य अकाउंट में चला गया तो यह बापस नहीं मिल सकता कोई भी आपकी हेल्प नहीं कर सकता।
  9. बिटकॉइन खरीदने वाले और बेचने वालों की पहचान नहीं होती है क्योंकि है सब Crypto फॉर्मेट में होता है.
Spread the love

Leave a Reply