Contents

Seo लिंक बिल्डिंग क्या है लिंक बिल्डिंग कैसे बनाये और वेबसाइट या ब्लॉग को Seo (Search Engine Optimization) लिंक बिल्डिंग के के फयदे क्या-क्या होते है और लिंक बिल्डिंग कैसे तैयार की जाती है ?

Seo लिंक बिल्डिंग क्या है कैसे यह तैयार की जाती है ?

किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल सर्च इंजन में रैंक कराने के लिए उस वेबसाइट या ब्लॉग की जितनी अच्छी लिंक बिल्डिंग होगी उतनी ही ज्यादा तेजी से वेबसाइट या ब्लॉग गूगल के सर्च इंजन में अच्छे से रैंक कर पायेगी और उस वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल अपने सर्च इंजन के पहले Page पर जल्दी से जल्दी Rank करा देगा क्योंकि लिंक बिल्डिंग की वजह से  वेबसाइट या ब्लॉग का पेज रैंक और उसकी Quality काफी अच्छी होती है जिसकी वजह से गूगल उस वेबसाइट या ब्लॉग को अपने सर्च इंजन में काफी प्राथमिकता देगा और इस वजह से  वेबसाइट ब्लॉग पर बहुत अच्छे लेवल पर ट्रैफिक आयेगा और वेबसाइट या ब्लॉग के विजिटर की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जायेगी और जिसके चलते इंटरनेट पर वेबसाइट या ब्लॉग की वैल्यू काफी अधिक हो जायेगी और  ब्लॉग या वेबसाइट अच्छे स्तर पर ग्रो करेगा।

” लिंक बिल्डिंग का मतलब आपकी वेबसाइट का लिंक (URL) अपनी वेबसाइट पर या फिर अन्य किसी वेबसाइट पर होना. “

उदहारण- जैसे आपकी वेबसाइट है basiccomputerhindi.com और इसका लिंक किसी अन्य वेबसाइट पर है जैसे www.amazon.in , www.microsoft.com पर है तो यह लिंक, लिंक बिल्डिंग के अंतर्गत आती है और इसी ही लिंक बिल्डिंग कहा जाता है

लिंक बिल्डिंग के अंतर्गत लिंक तीन प्रकार की होती है –

  1. Internal Link
  2. External Link
  3. Broken Link

Internal Link, External Link, Broken Link क्या है यह जानने के लिए नीचे क्लिक करे –

INTERNAL LINK KYA
EXTERNAL LINK KYA HAI ?
BROKEN LINK KYA HAI

लिंक बिल्डिंग कैसे बनाये ?

किसी भी वेबसाइट की लिंक बिल्डिंग तैयार करने के लिए आपको Seo (Search Engine Optimization) के अंतर्गत आने वाली बहुत सी Seo Technique का उपयोग करना पड़ता है और इन्ही Technique के माध्यम से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की लिंक बिल्डिंग तैयार होती है.

किसी भी वेबसाइट की लिंक बिल्डिंग तैयार करने वाली Seo Technique निम्न प्रकार है-

  • Directory Submission
  • Blog Commenting
  • Blog Submission
  • PDF Submission
  • Article Submission
  • Guest Posting
  • Social Bookmarking
Seo लिंक बिल्डिंग क्या है लिंक बिल्डिंग कैसे बनाये क्या है तरीका

ऊपर दी गई लिंक बिल्डिंग बनाने वाली Seo Technique के बारे में हम एक-एक करके पूरी डिटेल्स में आगे जानेगें.

 ध्यान दें-आप हमेशा उन्ही वेबसाइट पर अपनी वेबसाइट की लिंक बिल्डिंग बनाना जिन वेबसाइट का Page रैंक और वेबसाइट Quality आपकी वेबसाइट से ज्यादा है  हो। 

वेबसाइट या ब्लॉग की लिंक बिल्डिंग तैयार तैयार करते समय Seo (s की इन Technique का उपयोग बिल्कुल मत करना –

  • अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर किसी भी प्रकार की Link Spamming ना करना।
  • अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कभी भी Backline Purchase ना करना।
  • अपनी वेबसाइट या ब्लॉग किसी भी प्रकार का गलत Link Redirection ना दे। 
  • अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर किसी poor वेबसाइट या ब्लॉग की Link नहीं डाले।

 

वेबसाइट की लिंक बिल्डिंग तैयार करने के फायदे ?

  • किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग की लिंक बिल्डिंग तैयार होने से वेबसाइट या ब्लॉग गूगल के सर्च इंजन में नजर आता है.
  • वेबसाइट या ब्लॉग की लिंक बिल्डिंग तैयार होने से आपकी  वेबसाइट या ब्लॉग का Page रैंक भी काफीअधिक होगा.
  • वेबसाइट या ब्लॉग  की लिंक बिल्डिंग वेबसाइट या ब्लॉग की अच्छी Quality को दर्शाता है। 
  • लिंक बिल्डिंग के माध्यम से वेबसाइट या ब्लॉग गूगल के सर्च इंजन के अच्छे लेवल पर आ जाती है
  • वेबसाइट या ब्लॉग सर्च इंजन में आने से वेबसाइट या ब्लॉग पर बहुत सी संख्या में ट्रैफिक आता है और वेबसाइट बहुत ज्यादा पोपुलर होती है.
  • यदि वेबसाइट या ब्लॉग पर भारी मात्रा में ट्रैफिक आ रहा है तो बहुत सी कंपनी अपनी कंपनी का Promotion करने के लिए आपसे Contact करेगीं .
  • यदि कोई भी कंपनी आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर अपनी कम्पनी का Promotion करती है तो आपको वो कुछ रुपये भी देगी जिससे आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर इनकम भी होने लगेगी
Spread the love

PRAMOD

मेरा नाम प्रमोद है में कंप्यूटर और टेक से सम्बंधित जानकारी का एक Youtuber और Blogger हूँ में प्रतिदिन कंप्यूटर और टेक से सम्बंधित जानकारी अपने YouTube Channel और Blog पर Publish करता हूँ मैं. basiccomputerhindi

2 Comments

Amzad · April 20, 2019 at 9:33 am

Bahut achhi tarh aap ne samjhaya sir.
Thank you

Neetu Kumar · July 3, 2019 at 1:19 pm

Nice Blog, Thanks

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *