Hacker और Hacking क्या है और Hacking के सॉफ्टवेयर और उसके कानून

  • by
MSME आधार उधोग क्या है

दोस्तों आज के समय में इंटरनेट और कंप्यूटर की आवश्यकता दिन-प्रीतिदिन बड़ती जा रही है क्यों आज हर व्यक्ति के जीवन के साथ इंटरनेट और कंप्यूटर जुड़ा है यह भी कह सकते है कि, दुनियां में प्रत्येक व्यक्ति के कार्य बिना इंटरनेट और कंप्यूटर पूर्ण नहीं हो रहे है आज दुनियां के हर व्यक्ति अपने व्यक्तिगत कार्य इंटरनेट और कंप्यूटर के माध्यम से किये जा रहे है आज कंप्यूटर और इंटरनेट के माध्यम से व्यक्ति अपने सभी कार्य आसानी से कर रहा है

 

आज के समय में इंटरनेट और कंप्यूटर व्यक्ति के जीवन के लिये जितने फायदे का कार्य कर रहा है उतना नुकसान के भी कार्य कर रहा है तो आज हम बात करने वाले ही की इंटनरेट और कंप्यूटर के अंतर्गत आने वाले Hacker और Hacking क्या है क्यों यह प्रत्येक व्यक्ति के लिये खतरनाक खतरनाक साबिन हो रही है तो आज हम केवल Hacker और Hacking क्या है और इससे सम्बंधित बातों पर चर्चा करेगें।


नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताने जा रहे है कि इंटरनेट और कंप्यूटर Hacker और Hacking क्या है क्यों यह हमारे कंप्यूटर या हमारे लिए क्यों खतरनाक साबित हो सकती है कंप्यूटर में हैकिंग करने के कौनसे-कौनसे टूल है उपलब्ध है और अपने कंप्यूटर को हैकिंग से बचाने के तरीके क्या-क्या है और कैसे हम हैकिंग से सुरक्षित रह सकते है और किस प्रकार हैकिंग होती है तो आज हम केवल Hacker और Hacking क्या है और इससे सम्बंधित बहुत सी बातों पर चर्चा करेगें और इससे सम्बंधित बहुत सी बातों से अवगत होगें। 

 

Hacker और Hacking क्या है ?

 

 

हम लोग computer में डाटा को सुरक्षित रखने के लिए महंगे software खरीदकर Install करते है और महंगी Security & password का use करते है और हम समझते है की हमारा computer सुरक्षित है लेकिन ऐसा नहीं है आज के इस Technology की दुनिया में कुछ ऐसे लोग भी है जो अन्य जगह या फिर किसी अन्य देश में बैठकर हमारे computer की सभी security को आसानी से तोड़ सकते है और हमारे कंप्यूटर को Hack कर सकते है इन्ही लोगो को Hackers का नाम दिया गया है,

 

       यह hacker किसी भी देश के computer & Website की जानकारी को hack कर सकते है और उस देश की जानकारी का गलत use करके उस देश को नुकसान पहुंचा सकते है. आज के इस technology की दुनिया में hackers द्वारा बहूत से hacking Software का निर्माण किया और उसका use भी किया है जो एक चिंता का विषय है, लेकिन आज की इस technology की दुनिया में hackers से बचने के लिए भी काफी software और तकनीके का भी निर्माण किया गया है जो आज भी hackers से बचने का काम कर रहे है और Government द्वारा Hackers पर क़ानूनी धाराओं का निर्माण किया गया है जिससे कुछ hacking करने वालो पर control किया गया है.

 

Hacker की Hacking तकनीक

  • Bait & Switch.
  • WEb Cookies Theft.
  • Click jacking Attack.
  • Trojan, Virus.
  • Phishing web page.
  • Waterhole Attacks.
  • Denial of service (Dos/Ddos).
  • Key logger.

 

Hacking software  List :-

Nmap ( Network Mapper)  Free tool
Metasploit Penetration Testing Software  Free & paid Tool
Johon the Ripper Free Tool
Thc Hydra Free Tool
Owasp Zed Free Tool
Wireshark Free Tool
Airerack-ng Free Tool
Maltego Free & Paid Tool
Cain and Abel Hacking Tool Free Tool
Nikto Website Vulnerability Scanner  Free Tool

 

ध्यान दें – हैकिंग तकनीक और हैकर टूल के बारे में एक-एक करके आगे जानेगें।

 

Hacker और Hacking क्या है

“Hacker और Hacking क्या है के अंतर्गत कानून और क़ानूनी धाराएँ “

Hacker और Hacking क्या है के अंतर्गत यदि कोई व्यक्ति किसी भी सिस्टम को अपने किसी भी जगह से चला रहा है और उसके कंप्यूटर की मह्त्वपूर्ण जानकारी चुरा रहा है और उस जानकारी का गलत उपयोग कर रहा है तो सरकार के माध्यम इस तरह की गतिविधयों के लिये कुछ कानून बनाये है –

कानून – आईटी (संशोधन) ACT 2008 की धारा 43 (ए ) धारा – 6

आईपीसी की धरा 379 और 406 के तहत करवाई

सजा – अपराधी का अपराध साबित होता है तो उसे तीन साल की जेल या पांच लाख का जुरमाना भरना पड़ेगा।

 

 

Hacker और Hacking से बचने के तरीके –

  1. Total Security Paid Antivirus – आप पाने कंप्यूटर में Total Security Paid Antivirus जरूर इनस्टॉल करके रखे और उसे समय-समय कंप्यूटर में स्कैन करें और अपडेट करें।
  2. Windows Firewall- आप अपने कंप्यूटर में कंट्रोल पैनल में जाकर विंडोज फ़ायरवॉल को चेक करें यदि विंडोज फ़ायरवॉल कंप्यूटर में ऑफ है तो आप उसे ऑन करें।
  3. Downloading – आप अपने कंप्यूटर में इंटरनेट से कोई भी चीज की Downloading होने के बाद अपने कंप्यूटर के एंटीवायरस से उसे स्कैन जरूर करें।
  4. Payment Getaway – इंटरनेट पर पेमेंट गेटवे या लॉगिन अकाउंट के लिए जैसे कार्य आप अपने कंप्यूटर में और किसी भी वेबसाइट पर लॉगिन होते है तो आप उसके लिए अपने कंप्यूटर की इंटरनेट ब्राउज़र की Incognito Windows का उपयोग करें हो सके तो आप वेबसाइट में https जरूर देखे।
  5. पब्लिक इंटरनेट नेटवर्क – आप अपने कंप्यूटर में पब्लिक इंटरनेट नेटवर्क का उपयोग करते समय इंटरनेट पर कोई भी प्राइवेसी जैसे कार्य नहीं करें।
  6. Delete Cookeis – आप अपने कंप्यूटर के इंटरनेट ब्राउज़र की cookies समय-समय पर डिलीट करते है यदि आपने अभी-अभी फालतू वेबसाइट खोली है तो आप अभी तुरंत अपने ब्राउज़र की कूकीज को डिलीट करें।
  7. Passoword Save – आप अपने कंप्यूटर में इंटरनेट ब्राउज़र में कभी-भी किसी भी वेबसाइट का id और password को save करके ना रखे।
  8. Password – आप अपने कंप्यूटर में इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट का Possword को स्ट्रांग रखें कभी भी अपने नाम , अपने परिवार का नाम या मोबाइल नंबर जैसी चीज पर कभी भी पासवर्ड ना बनाये।
  9. Spam Web Links -इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट या सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर कभी भी अनजाने Link और एडल्ट कंटेंट वाले Link पर कभी भी क्लिक ना करें यदि क्लिक हो गया है तुरंत उस वेबसाइट से वापस आये और अपने कंप्यूटर की इंटरनेट ब्राउज़र की कूकीज डिलीट करें।
  10. Adult Content – यदि आप अपने कंप्यूटर में इंटरनेट ब्राउज़र पर कभी-कभी Adult + 18 वेबसाइट खोलते हो तो आप इस वेबसाइट का उपयोग करने के लिए Incognito Windows का उपयोग करें।
  11. Download Software – अनजानी सॉफ्टवेयर वेबसाइट से कभी भी फालतू सॉफ्टवेयर ना तो डाउनलोड करे और ना ही इनस्टॉल आप हमेशा कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने के लिये पॉपुलर वेबसाइट का उपयोग करें।
  12. Domain Name – जब आप अपने कंप्यूटर में इंटरनेट पर कोई भी या किसी भी प्रकार की वेबसाइट को खोलते है तो आप उस वेबसाइट का Domain Name जरूर चेक करे जैसे WWW basiccomputerhindi.com यदि आप ऐसी वेबसाइट का उपयोग करे रहे है जिसका Domain नेम कुछ अजीब-गरीब है जो नामी डोमेन नेम से बिल्कुल नहीं मिलता है जैसे – .com, .in. .edu, .net, .info तो आप नामी डोमेन नेम ना मिलने वाले Domain  वेबसाइट पर ज्यादा देर तक ना रुके और ना ही आप इस प्रकार की वेबसाइट को अपने कंप्यूटर ज्यादा ना खोले।
  13. साइबर कैफ़े – यदि आप इंटरनेट का उपयोग साइबर कैफ़े पर उपयोग करते है और कुछ प्राइवेसी वाला कार्य करते है तो आप साइबर कैफ़े वाले कंप्यूटर या लैपटॉप की जाँच करे और दाये और वायें या CPU को चेक करें और उस कंप्यूटर के Desktop पर Software चेक जैसे-Screen Recoder और इंटरनेट की प्राइवेट विंडोज यानि Incognito विंडोज का उपयोग करें और साथ ही साथ आप www.facebook.com,  twitter.comgoogle+www.amazon.in, www.onlinesbi.com , www.paypal.com  इस तरह की वेबसाइट उपयोग करने के लिए आप अपने कंप्यूटर की इंटरनटे ब्राउज़र की incognito Windows यानि Private Windows का ही उपयोग करें।

 

आशा करते है आपको Hacker और Hacking क्या है और हैकिंग टूल और हैकिंग की कानून और इसके अन्तर्गत क़ानूनी धारायें और हैकिंग से बचने की तकनीक और हैकिंग से सम्बंधित बहुत सी जानकारी आपको समझ आ गई होगी आशा करते है यह जानकारी आपके लिए काफी हेल्पफुल सभी हो सकती है आप इसी तरह की जानकारी के लिए हमरे ब्लॉग पर विजिट  करते रहिये। 


computer virus symptoms
Online Shopping Hacking
Subscribe on you tube