ब्लॉग वेबसाइट में स्पैम क्या है 5 ऐसी एक्टिविटी जो स्पैम के अंदर आती है.

  • Post category:SEO
  • Post comments:0 Comments
  • Reading time:2 mins read

ब्लॉग वेबसाइट में स्पैम क्या है कौनसी ऐसी एक्टिविटी होती साइट के अंदर जो स्पैम के अंदर आती है तो आइये जानते है इसके बारे में ?

जब वेबसाइट में ऐसी एक्टिविटी की जाती है जो गूगल सर्च इंजन की अल्गोरिथम का उल्लघन करती है तो उसे वेबसाइट में स्पैम कहते है जिससे वेबसाइट की रैंकिंग पूरी तरह से इंटरनेट सर्च इंजन में गिर जाती है और वेबसाइट की Quality ख़राब हो जाती है और साइट भविष्य में रैंक करने के काबिल नहीं होती है.

कॉपी पेस्ट कंटेंट

अगर ब्लॉग वेबसाइट के अंदर कॉपी पेस्ट करके कंटेंट लिखा है तो यह ब्लॉग वेबसाइट के अंदर स्पैम माना जायेगा आप किसी भी साइट के अंदर से एक या दो लाइन चुराकर अपने पोस्ट के अंदर कॉपी पेस्ट करके डालते है तो यह एक स्पैम के अंदर आता है बहुत से ऐसे लोग होते है जो पोस्ट को कॉपी पेस्ट करके इस तरह बनाते है जैसे की गूगल को इसके बारे में पता नहीं पड़ेगा की आपने पोस्ट के अंदर किस-किस वेबसाइट से कंटेंट कॉपी करके अपनी पोस्ट में डाला है.

Wrong Redirection

कुछ ऐसे लोग होते है जो अपनी साइट का ट्रैफिक को Rediraction करके अन्य साइट पर भेजते है तो वो लोग अपनी साइट पर स्पैम करते है जैसे उनकी साइट के किसी ऐसी पोस्ट पर ट्रैफिक आ रहे है और उन्होंने अपने इस पोस्ट के ट्रैफिक को Redirect किसी अन्य पोस्ट या साइट पर कर दिया किसी ना किसी वजह से तो यह एक धोखा होता है विजिटर के साथ क्योंकि विजिटर आपकी साइट की पोस्ट पढ़ने के लिए इंडेक्स हुई पोस्ट लिंक पर क्लिक करता है तो उसे वो पोस्ट पढ़ने को नहीं मिलती है वो किसी और पोस्ट या साइट पर Redirect हो जाता है तो ऐसे गूगल की नजर में स्पैम कहा जाता है.

Bad Backlinks

कुछ लोग अपनी साइट या पोस्ट को जल्दी से जल्दी रैंक कराने के लिए साइट पर ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक लाने के लिए बैकलिंक्स पर काम करते है तो वो अपनी साइट के अंदर इस तरह से Backlinks क्रिएट कर लेते है जो Bad Backlinks के अंदर आती है तो गूगल सर्च इंजन इसे स्पैम की नजर से देखता है क्योंकि कोई भी साइट या पोस्ट रैंकिंग के लिए Backlinks काफी महत्वपूर्ण रोल निभाती है अगर साइट का मालिक गलत एक्टिविटी करके साइट पर Backlinks बना लेता है तो यह स्पैम के अंदर आता है जो साइट को काफी प्रभावित करता है.

नेगेटिव SEO

कुछ लोग ग्रे एंड ब्लैक हैट SEO करके अपनी पोस्ट या साइट को रैंक करवाते है जो एक निगेटिव SEO के अंतर्गत आता है अगर नेगेटिव SEO करके साइट के मालिंक ने अपनी साइट या पोस्ट को गूगल सर्च इंजन में रैंक भी करा लिया तो गूगल के बोट्स इस एक्टिविटी को कभी ना कभी पकड़ सकते है अगर आपकी साइट इस एक्टिविटी के साथ पकड़ी जाती है तो साइट हमेशा गूगल द्वारा मैन्युअल एक्शन भी लिया जा सकता है जिसकी वजह साइट की रैंकिंग पूरी तरह से प्रभावित हो सकती है.

हिडन टेक्स्ट

कुछ लोग अपनी साइट में ज्यादा से ज्यादा कंटेंट दिखाने के लिए हिडन टेक्स्ट लिखते है हिडन टेक्स्ट का मतलब साइट का जो बैकग्राउंड है उस बैकग्राउंड से मिलता जुलता फालतू कोई भी टेक्स्ट लिखना और साइट पर ज्यादा से ज्यादा कंटेंट Show करना।

Spread the love

PRAMOD

मेरा नाम प्रमोद है में कंप्यूटर और टेक से सम्बंधित जानकारी का एक Youtuber और Blogger हूँ में प्रतिदिन कंप्यूटर और टेक से सम्बंधित जानकारी अपने YouTube Channel और Blog पर Publish करता हूँ मैं Gwalior City का रहने वाला हूँ मेरी Graduation Complete Jiwaji University Gwalior  में हुई है और मैंने अपनी Computer पढ़ाई  MakhanLal Chaturvedi University से की है अगर आप Basic Computer, Ms Word,Excel, Powerpoint, Computer GK SEO, Wordpress & Online Digital Payment App, आदि की जानकारी लेना चाहते हो और कुछ नया सीखना चाहते है तो आप हमारे ब्लॉग पर विजिट करते रहिये।

Leave a Reply